MS Dhoni: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी शायद अपना आखिरी IPL खेल खेल रहे हैं। इसलिए IPL 2023 बेहद खास है और चेन्नई सुपरकिंग्स अपने कप्तान के आखिरी सीजन को यादगार बनाने में जुटे हुए हैं। धोनी पूरी तरह से फिट और फॉर्म में हैं, जैसा कि उनके द्वारा लखनऊ के खिलाफ खेले गए दूसरे मैच में दो छक्के जड़ते हुए देखा गया था।

धोनी के बारे में एक सवाल हमेशा उठता है कि वे भारतीय टीम के लिए उतने ही सफल फिनिशर या बल्लेबाज नहीं होते हैं, जितने कि वे चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए होते हैं। यह तीन कारण हो सकते हैं जो बताते हैं कि धोनी T20 फॉर्मेट में टीम इंडिया के लिए उतने कारगर साबित नहीं हो पाए.

MS Dhoni का IPL में स्ट्राइक रेट और औसत है ज्यादा

MS Dhoni IPL-2023

महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) भारत के लिए 98 टी 20 मैच खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 85 पारियों में 1617 रन बनाए हैं और उनकी औसत 37.6 है। उनके बल्ले से इस दौरान दो अर्धशतक निकले हैं और स्ट्राइक रेट 126.13 है। वहीं, IPL में धोनी ने 236 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 208 पारियों में 5004 रन बनाए हैं और उनकी औसत 39.09 है। इस दौरान उनके बल्ले से 24 अर्धशतक निकले हैं और उनका स्ट्राइक रेट 135.54 है।

IPL में MS Dhoni का जलवा

धोनी (MS Dhoni) एक बड़े सुपरस्टार हैं जो चेन्नई सुपरकिंग्स जैसी बड़ी फ्रेंचाइजी में कप्तानी करते हैं। वे फिल्ड पर उतरते ही हजारों दर्शक उन्हें चीयर करते हैं। यह उन्हें IPL में बेहतरीन करने की प्रेरणा देता है। टीम इंडिया के लिए, धोनी के अलावा भी कई बड़े स्टार होते हैं, जो सभी के अपने-अपने फैंस होते हैं। इसलिए, अंतरराष्ट्रीय मैचों में सिर्फ धोनी ही नहीं खिलते हैं और अंतरराष्ट्रीय मैचों के दबाव का असर उनके प्रदर्शन पर पड़ता है।

डेथ ओवर के शेर लेकिन…

MS Dhoni IPL-2023

आखिरी ओवरों को डेथ ओवर कहा जाता है और महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को इन ओवरों का राजा माना जाता है। वे इन ओवरों में खेलते हुए अपनी टीम को जीत की ओर ले जाने के लिए अपनी क्षमताओं का नुकसान नहीं करते हैं। हालांकि, यह उपलब्धि उनके IPL के स्तर पर ज्यादा देखी जाती है जबकि अंतराष्ट्रीय स्तर पर इनकी ये क्षमताएं अधिक दिखाई नहीं देती हैं।

also read: विराट ने LIVE मैच में बनाया रोहित को चोटिल करने का प्लान! Video वायरल होते ही मचा हंगामा

IPL में डेथ ओवरों में (16 से 20 ओवर के बीच) धोनी ने 167 छक्के लगाए हैं। जबकि अंतराष्ट्रीय मैचों में खासकर करियर के आखिरी दिनों में, उन्हें डेथ ओवर में बल्लेबाजी के दौरान रन बनाने के लिए जूझते हुए देखा जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *