R Ashwin Breaches IPL Code of Conduct: भारतीय स्पिन गेंदबाज आर अश्विन को ऐसे खिलाड़ी के तौर पर जाना जाता है जो कि बिना किसी डर या खौफ के अपनी बातें सबके सामने रखते हैं। वो टीम इंडिया के लिए खेल रहे हो या फिर राजस्थान रॉयल्स के लिए अगर उन्हें कोई बात पसंद नहीं होती तो वो खुलकर इस बारे में बात करते हैं। बुधवार को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मैच के दौरान अंपायर ने कुछ ऐसा किया जिससे राजस्थान रॉयल्स के इस गेंदबाज का गुस्सा फूट पड़ा।

Also Read: राजस्थान रॉयल्स की जीत का जश्न हुआ फीका, टीम के कप्तान पर लगा लाखो का जुर्माना।

अंपायर से पंगा लेना आर अश्विन को पड़ा महंगा

R Ashwin Fined

राजस्थान रॉयल्स के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin Fined) को आईपीएल 2023 में हो रही अंपायरिंग के खिलाफ बयानबाजी करना महंगा पड़ गया। रविचंद्र अश्विन पर आईपीएल के कोड ऑफ कंडक्ट (IPL Code of Conduct) के उल्लंघन के लिए मैच फीस का 25 फीसदी जुर्माना लगाया गया है। आर अश्विन (R Ashwin) ने एक दिन पहले एमए चिदंबरम स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ हुए मैच में अंपायरिंग को लेकर सवाल उठाए थे।

R Ashwin पर लगा जुर्माना

अश्विन ने आईपीएल की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.7 के तहत लेवल 1 का अपराध स्वीकार किया है। आचार संहिता के लेवल 1 के तहत मैच रेफरी का निर्णय अंतिम होता है। अश्विन ने इसी नियम का उल्लंघन किया है। आईपीएल ने बयान जारी करते हुए लिखा, ‘राजस्थान रॉयल्स के रविचंद्रन अश्विन पर मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है क्योंकि चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेले गए लीग के 17वें मैच में उन्होंने आईपीएल को कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन किया है।’

Also Read: “वो माही भाई हैं”, संदीप शर्मा ने बताया Last Over में ऐसे दिया MS Dhoni को गच्चा।

रवि अश्विन ने क्या कहा था

दरअसल राजस्थान रॉयल्स के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने हैरानी जताई चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच के दौरान अंपायरों ने ओस के कारण खुद ही गेंद बदलने का फैसला किया और उन्होंने इस तरह के निर्णय में निरंतरता बनाए रखने की अपील की। रविचंद्रन अश्विन अंपायर के इस फैसले खुश नहीं दिखे थे और उन्होंने अंपायर के इस फैसले का खुलेआम विरोध किया था। अब अश्विन को अंपायर के फैसले पर सवाल उठाना भारी पड़ गया है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *